21 second read
Comments Off on
0
120

रेप का अरोपी महंत सीताराम, बाहुबली संजय त्रिपाठी समेत घटना के 5 सूत्रधार पहुंचे सलाखों के पीछे।

रीवा राजनिवास में हुए  बहुचर्चित रेप कांड का मुख्य आरोपी महंत सीताराम सहित उससे जुड़े 5 अरोपितो को रीवा पुलिस ने सलाखो के पीछे पहुंचा दिया है। शहर के सिविल लाइन थाना की पुलिस ने शनिवार को रेप का मुख्य अरोपी सीताराम उर्फ समर्थ त्रिपाठी निवासी गढ़वा थाना गुढ़, उसकी मदद करने वाले संजय त्रिपाठी, अंशुल मिश्रा, तौफिक अंसारी को रीवा कोर्ट के निर्देश पर केंद्रीय जेल रीवा के कारागार में डाल दिया है, जबकि इस घटना से जुड़ा विनोद पांडे को पूर्व में ही पुलिस सलाखों के पीछे पहुंचा चुकी है।

इस तरह के लगे हैं अरोप

पुलिस के मुताबिक जिन 5 लोगो को जेल की सलाखों में डाला गया है। उनमें से महंत सीताराम उर्फ समर्थ त्रिपाठी पर 16 वर्ष की नाबालिग लड़की से रेप किए जाने का अरोप है। आरोपी मंहत पर वीवीआईपी राजनिवास के रूम नंबर-4 में साथियों के साथ शराब पार्टी की और फिर नाबालिग लड़की को हवस का शिकार बनाने का आरोप है।

बाहुबली ने दी शरण

बाहुबली संजय त्रिपाठी पर आरोप है कि घटना के बाद महंत सीताराम को उसने न सिर्फ शरण दी थी बल्कि उसे भागने में मदद भी पहुंचाई थी। जिसके चलते पुलिस ने संजय त्रिपाठी को भोपाल से गिरफ्तार किया है। वहीं जिस 4 पहिया वाहन से महंत को छोड़ा गया था, पुलिस उसे भी जब्त कर ली है। हालांकि संजय त्रिपाठी जेल जानें के पूर्व चींख-चीखकर खुद को निर्दोष बता रहें थे। 

भांजे ने दिलाया था कमरा

जनकारी के तहत पकड़े गए अशुंल मिश्रा पर अरोप है कि उसने ही राजनिवास में महंत को कमरा दिलवाया था। जिसके चलते पुलिस ने उसे भी आरोपी बनाया है। अशुंल बाहुबली संजय त्रिपाठी का भांजा है।

विनोद ने पहुचाई थी लड़की

हिस्ट्रीशीटर विनोद पांडे को भी पुलिस ने जेल भेजा है। उस पर अरोप है कि महंत के लिए उसने शराब पार्टी की न सिर्फ व्यावस्था कि बल्कि सतना जिले की रहने वाली एक नाबालिग लड़की को धोखे से राजनिवास बुला कर महंत को सौप दिया।

तौफीक ने बस में बैठया

पकड़ा गया अरोपी तौफीक अंसारी निवासी गुढ़ पर आरोप है कि रीवा से सिंगरौली के बीच उसने भी महंत की मदद की। उसने  महंत को कपड़े आदि पहुचाने के साथ बाइक से उसे सिंगरौली की बस में बैठाया था।

गर्ल फ्रेंड ने करवाई थी महंत की गिरफ्तारी

अब तक जो खबरे सामने आई उसके तहत रेप कांड के बाद रीवा से फरार हुए महंत सीताराम को उसकी ही महिला मित्र ने गिरफ्तार करवाया था। बताया जाता है कि महंत अपना नया मोबाईल लेकर सिंगरौली के लिए रवाना हुआ था। इसकी जानकारी उसकी गर्ल फ्रेंड को थी। गुढ़ पुलिस ने उससे पूछताछ की तो तौफीक के बारे उसने बताया। पुलिस ने तौफीक को उस समय पकड़ लिया जब वह महंत को बस में बैठा कर घर लौटा रहा था। तौफिक की निशानदेही पर रीवा पुलिस ने सिंगरौली पुलिस से संपर्क किया और महंत सीताराम को सिंगरौली पुलिस ने बस स्टैण्ड से गिरफ्तार कर लिया।

”नाबलिग लड़की से रेप के अरोपी सीताराम और उसे मदद पहुचाने वाले लोगो को गिरफ्तार करके न्यायालय में पेश किया गया है। सभी को न्यायालय के आदेश पर जेल भेज दिया गया है” -हीतेन्द्रनाथ शर्मा, थाना प्रभारी सिविल लाइन रीवा

Load More Related Articles
Comments are closed.

Check Also

नरेंद्र सिंह तोमर के बेटे के खिलाफ पूर्व संघ प्रचारक हुए मुखर, ड्रग्स की लेन-देन का वीडियो हुआ था वायरल

Author Recent Posts admin Latest posts by admin (see all) राज्य सरकार की बड़ी तैयारी, जल्द…