Home उत्तर प्रदेश अयोध्या मामले पर फैसला देने वाले जज भी बनेंगे प्राण प्रतिष्ठा के गवाह, देश के नामी 50 जजों व वकीलों को प्राण प्रतिष्ठा में बुलाया।

अयोध्या मामले पर फैसला देने वाले जज भी बनेंगे प्राण प्रतिष्ठा के गवाह, देश के नामी 50 जजों व वकीलों को प्राण प्रतिष्ठा में बुलाया।

14 second read
Comments Off on अयोध्या मामले पर फैसला देने वाले जज भी बनेंगे प्राण प्रतिष्ठा के गवाह, देश के नामी 50 जजों व वकीलों को प्राण प्रतिष्ठा में बुलाया।
0
43

रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद मामले का फैसला सुनाने वाली संवैधानिक बेंच में शामिल रहे पांच जज अब रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के गवाह होंगे। रामजन्म भूमि मामले का फैसले देने वाली बेंच का नेतृत्व तत्कालीन चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने किया था। इसके अलावा पूर्व सीजेआई एसए बोबड़े, मौजूदा सीजेआई डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस अब्दुल नजीर भी इस बेंच का हिस्सा थे।

बताया जाता है प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए देश भर के नामी 50 जजों एवं वकीलों को भी आमंत्रित किया गया है। बताया जाता है इनमें कई पूर्व चीफ जस्टिस और नामी वकील भी शामिल हैं। खासतौर पर 9 नवंबर, 2019 को रामजन्म भूमि मामले का फैसला सुनाने वाले जजों की मौजूदगी अहम होगी। अदालत ने विवादित भूमि का पूरा हिस्सा रामलला विराजमान को देने का फैसला दिया था। इसके अलावा मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में ही दूसरे स्थान पर पांच एकड़ जमीन मस्जिद बनाने के लिए मुहैया कराने का आदेश दिया था। हिंदू पक्ष का दावा था कि अयोध्या में जिस स्थान पर बाबरी ढांचा बना था, वहीं पर रामलला का जन्म हुआ था। पूर्व में वहां रहे प्राचीन राम मंदिर को तोडक़र बाबरी मस्जिद बनाई गई थी। ऐसे में उसी जगह पर राम मंदिर बनना चाहिए था। सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की संवैधानिक बेंच ने हिंदुओं के पक्ष में अपना ऐतिहासिक फैसला सुनाया था। इसके बाद यह भव्य राम मंदिर बनाया गया है।

Load More Related Articles
Comments are closed.

Check Also

निर्दलीय प्रत्याशी रविंद्र सिंह भाटी को गिफ्ट में मिली 45 करोड़ की बुलेट प्रूफ कार

Author Recent Posts Amit Latest posts by Amit (see all) नरेंद्र सिंह तोमर के बेटे के खिलाफ…