Home मध्यप्रदेश पूर्व सरपंच सचिव ने लूट खाई ग्राम पंचायत, शोशल ऑडिट के लिए बुलाई गई खुली बैठक में ग्रामीणों ने लगाए भ्रष्ट्राचार के आरोप

पूर्व सरपंच सचिव ने लूट खाई ग्राम पंचायत, शोशल ऑडिट के लिए बुलाई गई खुली बैठक में ग्रामीणों ने लगाए भ्रष्ट्राचार के आरोप

16 second read
Comments Off on पूर्व सरपंच सचिव ने लूट खाई ग्राम पंचायत, शोशल ऑडिट के लिए बुलाई गई खुली बैठक में ग्रामीणों ने लगाए भ्रष्ट्राचार के आरोप
0
65

सतना कहने के लिए तो प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान पूरे प्रदेश में जीरो टॉलरेंस की बात करते हुए भ्रष्टाचारियों सहित गुंडे बदमाशों को जमीन के नीचे दस फीट गाड़ देने की चेतावनी देते हैं, लेकिन पूरे प्रदेश खासकर सतना जिले की मझगंवा जनपद पंचायत अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायतों में भ्रष्टाचार की गंगा नही बल्कि, अगर यूं कहा जाय तो भी अतिश्योक्ति नही होगी की भ्रष्टाचार की वैतरणी नदी बह रही है। जिसमे ग्राम पंचायतों के सरपंच, सचिव, अधिकारी, कर्मचारी, नेता सब डुबकी लगाते नजर आ रहे हैं, और भ्रष्टाचार की शिकायतों को कोई देखने सुनने वाला नही है।

पूरा मामला मझगंवा जनपद पंचायत अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत झरी नकैला का है। जहां ग्राम पंचायत के पूर्व सरपंच श्रीराम सेन सहित सचिव द्वारा ऐसे ऐसे कांड किए गए, जिनकी मिशाल मिलना मुश्किल है। पूरे मामले का खुलासा ग्राम सभा में शोशल ऑडिट के लिए बुलाई गई खुली ग्राम सभा की बैठक के दौरान हुआ। बैठक मे ग्रामीणों द्वारा पूर्व सरपंच सचिव के ऊपर एक तरह से ग्राम पंचायत को लूट कर खा जाने का आरोप लगाते हुए किए गए भ्रष्टाचारों की जांच की मांग की गई। गांव के ग्रामीणों राजकुमार लखेरा, रामनरेश तिवारी, महादेव उपाध्याय द्वारा बताया गया कि ग्राम पंचायत में पूर्व सरपंच सचिव द्वारा तमाम ऐसे कार्य जैसे ग्राम पंचायत की गौशाला में बीते लगभग एक वर्ष से कोई भी गौवंश न होने के बाद भी लगातार भूसे के पैसों को निकाला गया, प्रधानमंत्री आवास योजना की मजदूरी का भुगतान ऐसे खातों में किया गया जो मजदूर थे ही नहीं, और बाद में उनके खातों से सरपंच सचिव द्वारा स्वयं पैसे प्राप्त कर लिए गए। इसके अलावा ग्राम पंचायत में घटिया सड़को का अधूरा निर्माण, राशि आहरित कर लेने के बाद भी नालियों का निर्माण न कराया जाना आदि शामिल है। ग्रामीण रामनरेश तिवारी के अनुसार हम केवल भ्रष्टाचार का आरोप नही लगा रहे हैं, ग्राम पंचायत के ग्रामीण चाहते हैं कि पूर्व सरपंच और सचिव के द्वारा किए गए भ्रष्टाचारों की जांच की जाय, जिससे की पूरे मामले का खुलासा हो सके।

इनका कहना है :-
पीसीसी रोड, नाली निर्माण की जांच हो एवं पीएम आवास मैं मजदूरी का भुगतान नही किया गया जिसकी जांच की जाए।
राजकुमार लखेरा, ग्रामीण

चारागाह का निर्माण नहीं किया गया उसका पैसा आहरित कर लिया गया है। गौशाला में 1 साल से कोई जानवर नही है और लगातार भूसा का पैसा निकाला जा रहा है इसकी जांच की जाए।
रामनरेश तिवारी, ग्रामीण

स्कूल की बाउंड्रीवाल की मरम्मतीकरण का पैसा निकाला गया है काम कुछ हुआ नही है। डग पॉइंट का फर्जी तरीके से पैसा निकाला गया है जिसकी जांच की जानी चाहिए।
महादेव उपाध्याय, ग्रामीण

कंटूर टंच के नाम पर फर्जी तरीके से पैसा आहरित किया गया है, जबकि उसका किसी भी तरह का काम नहीं है।
रामसुख यादव, ग्रामीण

Load More Related Articles
Comments are closed.

Check Also

नरेंद्र सिंह तोमर के बेटे के खिलाफ पूर्व संघ प्रचारक हुए मुखर, ड्रग्स की लेन-देन का वीडियो हुआ था वायरल

Author Recent Posts admin Latest posts by admin (see all) राज्य सरकार की बड़ी तैयारी, जल्द…