सतना ।।कलेक्टर अनुराग वर्मा की अध्यक्षता में सोमवार को संपन्न समय-सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में सार्वजनिक लक्षित वितरण प्रणाली के अंतर्गत सभी एसडीएम, सीईओ जनपद, सीएमओ नगरीय निकाय और खाद्य अधिकारियों द्वारा गत सप्ताह निरीक्षण की गई दुकानों के निरीक्षण प्रतिवेदन की समीक्षा की गई। कलेक्टर श्री वर्मा ने स्पष्ट किया है कि राशन वितरण में किसी भी स्तर पर लापरवाही पाए जाने पर संबंधित अधिकारी के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी। समय-सीमा प्रकरणों की बैठक में सीईओ जिला पंचायत डॉ परीक्षित झाड़े, आयुक्त नगर निगम राजेश शाही, एसडीएम धीरेंद्र सिंह, एचके धुर्वे, एसके गुप्ता, पीएस त्रिपाठी, धर्मेंद्र मिश्रा, सुधीर बेक, राजेश मेहता, नीरज खरे, संयुक्त कलेक्टर सुरेश जादव सहित जिला विभाग प्रमुख अधिकारी उपस्थित रहे।


कलेक्टर अनुराग वर्मा ने कहा कि प्रत्येक माह राशन दुकानों में 7 से 9 तारीख तक अन्न उत्सव का आयोजन करें। अन्न उत्सव के पहले प्रत्येक राशन दुकान में खाद्यान्न का पहुंचाव डीएम नान सुनिश्चित कराएं। इसके अलावा खाद्य विभाग के अधिकारी और निकाय के अधिकारी अपने आवंटित लक्ष्यों के अनुसार प्रत्येक सप्ताह में राशन दुकान का निरीक्षण करें तथा हितग्राहियों को सुगमता पूर्वक खाद्यान्न वितरण सुनिश्चित कराएं। उन्होंने जिले में प्रत्येक माह की समीक्षा में 10 प्रतिशत खाद्यान्न का उठाव नहीं करने वाले हितग्राहियों के परिलक्षित होने पर इनका सत्यापन कर आवश्यक या पात्र नहीं होने पर उन हितग्राहियों की जगह दूसरे पात्र हितग्राहियों को प्रतिस्थापित करने के निर्देश दिए।
जिला आपूर्ति अधिकारी ने बताया कि जिले में 39 हजार कार्डधारी मासिक खाद्यान्न का उठाव नहीं कर रहे हैं। कलेक्टर ने प्रत्येक टीएल की बैठक में गत सप्ताह किए गए राशन दुकानों के निरीक्षण प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।
कोठी क्षेत्र के कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी निलंबित
    खाद्यान्न वितरण की समीक्षा के दौरान नगर पंचायत कोठी क्षेत्र की एकमात्र राशन दुकान में हर माह कम खाद्यान्न वितरण होने और सितंबर माह के अन्न उत्सव में खाद्यान्न का उठाव नहीं होने से हितग्राहियों को खाद्यान्न वितरण से वंचित होने तथा समीक्षा बैठक में अनुपस्थित रहने पर कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी विवेक सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के निर्देश कलेक्टर श्री वर्मा ने दिए। कलेक्टर ने निरीक्षण कर्ता अधिकारियों द्वारा राशन दुकानों का निरीक्षण प्रतिवेदन प्रस्तुत नहीं करने पर संबंधित अधिकारियों के प्रति अप्रसन्नता भी व्यक्त की।
कलेक्टर ने कहा कि सभी अधिकारी अपने निर्धारित लक्ष्य अनुसार राशन दुकानों का हफ्ते में निरीक्षण करें और प्रतिवेदन उसी दिन उपलब्ध कराएं। लोगों को सुविधाजनक रूप से खाद्यान्न मिले और पावती भी मिलना सुनिश्चित कराएं।
आयुष्मान कार्ड बनाने के कार्य में प्रगति लायें
नगरीय निकायों में बने 67.53 प्रतिशत कार्ड
     कलेक्टर अनुराग वर्मा ने सभी एसडीएम को अपने जनपद और नगरीय निकाय में बन रहे आयुष्मान कार्ड के अभियान में लीड करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि आयुष्मान कार्ड बनाने का मोबाइल ऐप भी क्रियाशील हो गया है। एएनएम और आशा कार्यकर्ता अपने मोबाइल पर ऐप डाउनलोड कर कार्ड बना सकते हैं। जिले में इस कार्य के लिए जिला प्रबंधक ई-गवर्नेंस नोडल अधिकारी हैं। कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को एएनएम और आशा कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देने के निर्देश दिए। आयुष्मान कार्ड की समीक्षा में बताया गया कि नगरीय निकाय संस्थाओं में अब तक 67.53 प्रतिशत लोगों के कार्ड बनाए गए हैं। जिसमें नगर निगम की 86 प्रतिशत की उपलब्धि शामिल है। नगरीय निकायों में इस सप्ताह 11 हजार 135 आयुष्मान कार्ड बनाए गए हैं तथा 81 हजार 692 बनाने शेष हैं। इसी प्रकार जनपद पंचायतों में 51.79 प्रतिशत आयुष्मान कार्ड बनाए जा चुके हैं।
इस माह की ग्रेडिंग में ‘डी’ श्रेणी में रहे विभाग तो कटेगा वेतन
     सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा में कलेक्टर अनुराग वर्मा ने कहा कि इस सप्ताह सतना जिला ग्रेडिंग में 71.5 प्रतिशत वेटेज के साथ तीसरे स्थान पर है, इस स्थिति को बनाए रखें। संतुष्टि पूर्ण निराकरण भी बेहतर हैं। सीएम हेल्पलाइन की 50 दिवस से ऊपर की शिकायतों में बेहतर निराकरण कर रैंक को कायम रखें। कलेक्टर ने कहा कि इस माह की ग्रेडिंग में जो भी विभाग ‘डी’ श्रेणी में पाया जाएगा तो संबंधित विभाग प्रमुख की वेतन काटी जाएगी। फिलहाल अनुसूचित जाति, जल संसाधन, श्रम, वित्त, राजस्व, खाद्य, सामान्य प्रशासन सहित 7 विभाग ‘डी’ श्रेणी में है। कलेक्टर ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन में अभी 12 हजार 678 कुल शिकायतें लंबित हैं। इन्हें 10 हजार से नीचे लाएं और हर हफ्ते प्रयास कर कायम रखें।
ग्रामीण क्षेत्र की सड़कें भी मोटरेबल करायें
     कलेक्टर अनुराग वर्मा ने बरसात के दौरान क्षतिग्रस्त हुई ग्रामीण क्षेत्रों की कच्ची सड़कों को ग्राम पंचायत के सहयोग से मोटरेबल बनाने एवं सुधार कराने के निर्देश सीईओ जनपद पंचायत को दिए हैं। उन्होंने संबल योजना, जल जीवन मिशन, प्रधानमंत्री आवास, अमृत सरोवर, जिला अस्पताल के कार्य की भी समीक्षा की।

Load More Related Articles
Comments are closed.

Check Also

नरेंद्र सिंह तोमर के बेटे के खिलाफ पूर्व संघ प्रचारक हुए मुखर, ड्रग्स की लेन-देन का वीडियो हुआ था वायरल

Author Recent Posts admin Latest posts by admin (see all) राज्य सरकार की बड़ी तैयारी, जल्द…