Home मध्यप्रदेश सिद्धा पहाड़ मामले में कांग्रेसियों ने सौंपा PM के नाम चेतावनी भरा ज्ञापन,3 दिनों में लीज निरस्त नही होने पर पहाड़ पर करेंगे आमरण अनशन

सिद्धा पहाड़ मामले में कांग्रेसियों ने सौंपा PM के नाम चेतावनी भरा ज्ञापन,3 दिनों में लीज निरस्त नही होने पर पहाड़ पर करेंगे आमरण अनशन

16 second read
Comments Off on सिद्धा पहाड़ मामले में कांग्रेसियों ने सौंपा PM के नाम चेतावनी भरा ज्ञापन,3 दिनों में लीज निरस्त नही होने पर पहाड़ पर करेंगे आमरण अनशन
0
38

सतना।।आज चित्रकूट विधानसभा के कांग्रेस नेता आशुतोष द्विवेदी ने देश के प्रधानमंत्री के नाम चेतावनी भरा ज्ञापन सौंपा जिसमें कहा गया की मध्यप्रदेश के सतना जिले में चित्रकूट के समीप राम वनगमन पथ पर स्थित सिद्धा पहाड़ में खनन अनुमति देने की प्रक्रिया जारी है हिन्दुआस्था के केंद्र इस पहाड़ पर बाक्साइट, लेटराइट, ओकर आदि के खनन हेतु अनुज्ञा देने की कार्यवाही की जा रही है पूर्व में भी इसी तरह के प्रयास किये गये थे, लेकिन तब स्थानीय विरोध के चलते कार्यवाही रुक गई थी, अब पर्यावरणीय स्वीकृति के नाम पर फिर कार्यवाही शुरू की गई है माननीय एक तरफ हमारी सरकार द्वारा भगवान राम की स्मृतियों को चिरस्थायी बनाये रखने हेतु राम वनगमन पथ जैसी योजनाओं पर कार्य किया जा रहा है, अयोध्या में भव्य राममंदिर के साथ ही इसका पूर्णरूपेण विकास कर इसे भव्य तीर्थस्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है वहीं दूसरी ओर चित्रकूट क्षेत्र में भगवान राम से जुड़ी स्मृतियों को नष्ट करने का कार्य किया जा रहा है देशभर के लोगों की गहरी आस्था भगवान राम से जुड़े चित्रकूट स्थित विभिन्न स्थलों में है जिसमें सिद्धा पहाड़ प्रमुख है, इसी पहाड़ पर खनन हेतु अनुमति दी जा रही है

भगवान श्रीराम का जन्म अयोध्या में अवश्य हुआ था किन्तु वनवास काल में उनकी अधिकांश लीलायें चित्रकूट में संपन्न हुईं जहां दशरथपुत्र राम मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम बने रामचरित मानस के अरण्यकांड में उल्लेख है कि भगवान राम जब चित्रकूट से आगे की ओर बढ़े तो सिद्धा पहाड़ मिला यह पहाड़ अस्थियों से बना था तब राम को ऋषि-मुनियों ने बताया कि यहां राक्षस कई साधु संतो व ऋषि मुनियों को खा गए हैं और यह अस्थियां उन्हीं मुनियों की हैं तो भगवान राम ने इसी स्थान पर राक्षसों के विनाश की प्रतिज्ञा ली थी बाल्मीकि रामायण में भी इस पहाड़ का उल्लेख है अब यह सर्वसिद्ध है कि सिद्धा पहाड़ भगवान श्रीराम की स्मृतियों से जुड़ा जनआस्था का विषय है, ऐसे स्थलों के बेहतर संरक्षण व संवर्धन के बजाय इसको खोदने व नष्ट करने की किसी प्रकार की अनुमति हिन्दुआस्था पर गहरी चोट कहलायेगी जिसे क्षेत्रीय जनमानस व हमारे साधु संत कतई बर्दास्त नहीं करेंगे यदि हमने ऐसा होने दिया तो हमारी आने वाले पीढ़ियां हमें माफ नहीं करेंगी आप पर इस देश के सनातनियों का गहरा विश्वास है, आप ऐतिहासिक निर्णय लेने के लिये जाने जाते है संपूर्ण चित्रकूट क्षेत्र के धार्मिक स्थलों में आस्था रखने वाले धर्मावलंबियों व साधुसंतों का विश्वास है कि आप भगवान राम के पदचिन्हों व स्मृतिस्थलों को खनन माफिया से बचाने अवष्य हस्तक्षेप करेंगे व चित्रकूट में 11 वर्ष के वनवास काल की भगवान राम की स्मृतियों वाले स्थलों के विकास की बागडोर संभालने का कार्य अवश्य करेंगे हाल ही में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ जी ने चित्रकूट के इसी इलाके में वन अभयारण्य की घोषणा की है, पन्ना नेशनल टाईगर रिजर्व भी उल्लेखित क्षेत्र के समीप है, इस क्षेत्र में खनन गतिविधियों को लेकर साधु संतों व धर्मप्रेमियों की गहरी नाराजगी है अतः सिद्धा पहाड़ में खनन अनुमति देने की प्रचलित कार्यवाही रोकने व भगवान श्रीराम से जुड़े समस्त स्थलों के समीप के क्षेत्र को खनन मुक्त क्षेत्र घोषित करने के निर्देश संबंधितों को देने की महान कृपा करें तथा श्री द्विवेदी ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा की अगर हमारी मांग का निराकरण 3 दिवस के अंदर नहीं होता तो हम सभी क्षेत्रिय जन सिद्धा पर्वत के उपर अनिश्चितकालीन हड़ताल कर वहीं अपने प्राण त्याग देंगे ज्ञापन सौंपने वालों में प्रमुख रूप से गंभीर सिंह,अभयराज गौतम, राका चतुर्वेदी,पंकज श्रीवास्तव,गोलू यादव,लवकुश चतुर्वेदी,सूरज सिंह,सोभित त्रिपाठी,लकी सिंह,ज्ञानू द्विवेदी,जगमोहन द्विवेदी,अंकित यादव,मास्टर मिश्रा,आशीष पांडेय,रमोला त्रिपाठी,विजय कुमार त्रिपाठी,बंशू सिंगरौल,धरमदास सिंगरौल सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे ।

Load More Related Articles
Comments are closed.

Check Also

नरेंद्र सिंह तोमर के बेटे के खिलाफ पूर्व संघ प्रचारक हुए मुखर, ड्रग्स की लेन-देन का वीडियो हुआ था वायरल

Author Recent Posts admin Latest posts by admin (see all) राज्य सरकार की बड़ी तैयारी, जल्द…